Connect with us

Uncategorized

कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा तीसरे चरण में पर्वतीय क्षेत्रों में निकालेगी

उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में विकास के प्रति भाजपा सरकार की उपेक्षा और बेरोजगारी कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा के मुख्य हथियार होंगे। परिवर्तन यात्रा का तीसरा चरण इसी माह के आखिरी हफ्ते में गढ़वाल या कुमाऊं के पर्वतीय क्षेत्र में चलेगा। मैदानी क्षेत्रों में चुनावी बिगुल फूंक रही कांग्रेस मानसून की बरसात खत्म होने के इंतजार में है उसके बाद ही पर्वतीय क्षेत्रों का रुख करेगी। बारिश की वजह से अभी तक पर्वतीय क्षेत्रों में कांग्रेस ने परिवर्तन यात्रा प्रारंभ नहीं की है। परिवर्तन यात्रा का पहला चरण ऊधमसिंह नगर जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों और नैनीताल जिले के चार विधानसभा क्षेत्रों तक सीमित रखा गया।

परिवर्तन यात्रा का दूसरा चरण 18 सितंबर से हरिद्वार में शुरू हो रहा है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि इस माह के आखिरी हफ्ते में गढ़वाल या कुमाऊं के पर्वतीय क्षेत्र से परिवर्तन यात्रा का तीसरा चरण प्रारंभ होगा। हरिद्वार में दूसरे चरण की यात्रा की समाप्ति के बाद तीसरे चरण की यात्रा के बारे में घोषणा की जाएगी। पर्वतीय क्षेत्रों में परिवर्तन यात्रा को ज्यादा धारदार बनाने की तैयारी की जा रही है। दरअसल, कोरोना महामारी की वजह से विकास कार्यों के बाधित होने का सबसे ज्यादा असर पर्वतीय क्षेत्रों में हुआ है।

कोरोना संकट काल में पर्वतीय क्षेत्रों में वापस लौटे प्रवासियों के सामने रोजगार का संकट है। सरकार इनके रोजगार की समस्या पर कभी भी गंभीर नहीं रही / गोदियाल ने कहा कि सरकार पर्वतीय क्षेत्रों की परेशानी दूर करने को लेकर उदासीन रही परिवर्तन यात्रा में इन मुद्दों पर सरकार से जवाब मांगा जाएगा।