Connect with us

उत्तराखण्ड

मुख्यमंत्री कोई भी बने.. पर सीएम बनने की इच्छा सभी की है

देहरादून,उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को लेकर दिल्ली में चिंतन जारी है, इस बीच दिल्ली से लौटकर देहरादून पहुंचे पूर्व कैबिनेट मंत्रीयों ने इस देरी के लिए अलग अलग तर्क दिए हैं, बहरहाल जल्द ही इस सस्पेंस से भी पर्दा उठने जा रहा है जिसको लेकर भाजपा नेता भी उत्साहित है।

उत्तराखंड में मुख्यमंत्री किसको बनाया जाएगा इसके लिए अभी 24 घंटे का इंतजार करना होगा भाजपा के विधानमंडल दल की बैठक कल यानि सोमवार को शाम 5:00 बजे सुनिश्चित की गई है और इसके लिए संगठन की तरफ से सभी विधायकों को जानकारी भी दे दी गई है यही नहीं विधायकों को शाम 5:00 बजे पार्टी कार्यालय में आमंत्रित भी कर दिया गया है। पार्टी के नेताओं को भी नए मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर खासा उत्साह है, इस मामले पर दिल्ली से हाल ही में लौट कर वापस आए पूर्व मंत्री सुबोध उनियाल कहते हैं कि मुख्यमंत्री के चयन में देरी की वजह कुछ धार्मिक मान्यताएं रही है जिसके अनुसार होलाष्टक पर किसी भी शुभ कार्य को नहीं किया जा सकता है, सुबोध उनियाल ने कहा कि सभी को इंतजार करना चाहिए क्योंकि अब विधानमंडल दल की बैठक के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि मुख्यमंत्री कौन बनने जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  सीएम धामी ने कानून व्यवस्था को लेकर बैठक कर अधिकारियों को दिए कई महत्वपूर्ण दिशा निर्देश...

इसी तरह दिल्ली से वापस लौट कर आए पूर्व मंत्री बिशन सिंह चुफाल ने इस देरी की अपनी एक वजह बताइ है, चुफाल ने कहा कि भाजपा हाईकमान इस बार किसी ऐसे चेहरे को सामने रखना चाहता है जो 5 साल तक सरकार का नेतृत्व कर सके इसीलिए एक सशक्त चेहरे की तलाश के लिए पार्टी की तरफ से इतना समय लगाया जा रहा है। विभिन्न कार्यक्रमों की भी जानकारी देते हुए बिशन सिंह चुफाल ने कहा की जिलाधिकारी की तरफ से सभी विधायकों को सूचना दे दी गई है और इसमें सुबह 11:00 बजे विधानसभा में विधायकों को शपथ दिलाने के लिए कहा गया है उधर संगठन की तरफ से शाम 5:00 बजे विधानमंडल दल की बैठक की जानकारी दी गई है।

Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page